×

दुर्भाग्य दूर करने केलिये टोटका

आटे १ नीबू का दिया,, ७ लाल मिर्च, ७ लड्डू,२ बत्ती, २ लोंग, २ बड़ी इलायची बङ या केले के पत्ते पर ये सारी चीजें रख दें |रात्रि १२ बजे सुनसान चौराहे पर जाकर पत्ते को रख दें व प्रार्थना करें,
जब घर से निकले तब यह प्रार्थना करें = हे दुर्भाग्य, संकट, विपत्ती आप मेरे साथ चलें और पत्ते को रख दें | फिर प्रार्थना करें = मैं विदा हो रहा हूँ | आप मेरे साथ न आयें, चारों रास्ते खुले हैं आप कहीं भी जायें | एक बार करने के बाद एक दो महीने देखें, उपाय लाभकारी है| श्रद्धा से करें |
राई से करें दरिद्रता निवारण-
पैसों का कोइ जुगाड़ न बन रहा हो तथा घर में दरिद्रता का वाश हो तो यह करें: एक पानी भरे घड़े में राई के पत्ते डालकर इस जल को अभिमंत्रित करके जिस भी किसी व्यक्ति को स्नान कराया जाएगा उसकी दरिद्रता रोग नष्ट हो जाते हैं।
तोते का उपाय

बुध् वार शाम को एक नर एक मादा तोता लेकर पह्ले अपना मन्नत कहे कि हे तोता जैसे हम तुम्हे आजाद कर रहे है उस तरह आप हमे भी बन्ध् नो से आजाद करे फ़िर दोनो तोते को अप ने हाथो से आजाद कर दे
शनिवार के दिन आठ नंबर का जूता (लैदर का) शनि का दान मांगने वाले को ‘ऊँ सूर्य पुत्राय नम:’ आठ बार कहकर दें।

आपकी किस्मत का ताला खुल जायगा !
यदि आपको धन की परेशानी है, नौकरी मे दिक्कत आ रही है, प्रमोशन नहीं हो रहा है या आप अच्छे करियर की तलाश में है तो यह उपाय कीजिए : किसी दुकान में जाकर किसी भी शुक्रवार को कोई भी एक स्टील का ताला खरीद लीजिए ! लेकिन ताला खरीदते वक्त न तो उस ताले को आप खुद खोलें और न ही दुकानदार को खोलने दें ताले को जांचने के लिए भी न खोलें ! उसी तरह से डिब्बी में बन्द का बन्द ताला दुकान से खरीद लें ! इस ताले को आप शुक्रवार की रात अपने सोने के कमरे में रख दें ! शनिवार सुबह उठकर नहा-धो कर ताले को बिना खोले किसी मन्दिर, गुरुद्वारे या किसी भी धार्मिक स्थान पर रख दें ! जब भी कोई उस ताले को खोलेगा आपकी किस्मत का ताला खुल जायगा !
घर के मंदिर में
घर के मंदिर में चांदी के बर्तन नहीं रखने चाहिए यह पितरो के प्रतीक है घर के मं दिर में देवता और पितृ कि पूजा एक साथ नहीं कि जा सकती ना ही दोनों कि फोटो राखी जा सकती है घर के मंदिर में सिर्फ देवी देवता कि मूर्ति या तस्वीर रखी जा सकती है
घर के मंदिर में या घर में माँ दुर्गा , काली , या हनुमान कि मूर्ति या तस्वीर नहीं होनी चाहिए

दुर्भाग्य निवारण के लिए
हमारी या हमारे परिवार के किसी भी सदस्य की ग्रह स्थिति थोड़ी सी भी अनुकूल होगी तो हमें निश्चय ही इन उपायों से भरपूर लाभ मिलेगा।
व्यापार, विवाह या किसी भी कार्य के करने में बार-बार असफलता मिल रही हो तो यह टोटका करें- सरसों के तैल में सिके गेहूँ के आटे व पुराने गुड़ से तैयार सात पूये, सात मदार (आक) के पुष्प, सिंदूर, आटे से तैयार सरसों के तैल का रूई की बत्ती से जलता दीपक, पत्तल या अरण्डी के पत्ते पर रखकर शनिवार की रात्रि में किसी चौराहे पर रखें और कहें -“हे मेरे दुर्भाग्य तुझे यहीं छोड़े जा रहा हूँ कृपा करके मेरा पीछा ना करना।´´ सामान रखकर पीछे मुड़कर न देखें।
दुर्भाग्य

तीन पके हुए नीबू लेकर एक को नीला एक को काला तथा तीसरे को लाल रंग कि स्याही से रंग दे ।अब तीनो नीबुओं पर एक एक साबुत लौंग गांड दे । इसके बाद तीन मोटी चूर के लड्डू लेकर तथा तीन लाल पीले फूल लेकर एक रुमाल में बांध दे अब प्रभावित ब्यक्ति के ऊपर से सात बार उबार कर बहते जल में प्रवाहित कर दे प्रवाहित करते समय आस पास कोई खड़ा ना हो

रोज़ हनुमान जी का पूजन करे व हनुमान चालीसा का पाठ करें ! प्रत्येक शनिवार को शनि को तेल चढायें ! अपनी पहनी हुई एक जोडी चप्पल किसी गरीब को एक बार दान करें !

सिन्दूर लगे हनुमान जी की मूर्ति का सिन्दूर लेकर सीता जी के चरणों में लगाएँ। फिर माता सीता से एक श्वास में अपनी कामना निवेदित कर भक्ति पूर्वक प्रणाम कर वापस आ जाएँ। इस प्रकार कुछ दिन करने पर सभी प्रकार की बाधाओं का निवारण होता है

दुर्भाग्य
कभी-कभी न चाहते हुए भी जीवन में बहुत संघर्ष करना पड़ता है। भाग्य बिल्कुल भी साथ नहीं देता साथ ही दुर्भाग्य निरन्तर पीछा करता रहता है। दुर्भाग्य से बचने के लिए या दुर्भाग्य नाश के लिए यहां हम आपको एक अनुभूत टोटका बता रहे हैं। इसे पूर्ण आस्था के साथ करने से दुर्भाग्य का नाश होकर सौभाग्य में वृद्धि होती है।

टोटका

सूर्योदय के बाद और सूर्यास्त से पहले इस टोटके को करना है। एक रोटी लें। इस रोटी को अपने ऊपर से 31 बार ऊवार लें। प्रत्येक बार वारते समय इस मन्त्र का उच्चारण भी करें।

ऊँ दुभाग्यनाशिनी दुं दुर्गाय नम:

– बाद में यह रोटी कुत्ते को खिला दें अथवा बहते पानी में बहा दें।

– यह अद्भुत प्रयोग है। इसके बाद आप देखेंगे कि किस्मत के दरवाजे आपके लिए खुल गए हैं। पूर्ण आस्था से यह टोटका करने पर शीघ्र लाभ होता है।
सवा पांच किलो आटा एवं सवा किलो गुड़ लें। दोनों का मिश्रण कर रोटियां बना लें। गुरुवार के दिन सायंकाल गाय को खिलाएं। तीन गुरुवार तक यह कार्य करने से दरिद्रता समाप्त होती है।

शनिवार को सायंकाल उड़द के दो साबुत दाने लेकर उनपर थोडा सा दही -सिंदूर डालकर पीपल वृक्ष के नीचे २१ दिन तक नित्य रखे ,ध्यान रहे की वापस आते समय पीछे मुड़कर न देखे |
अपने हाथ के दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने के उपाय
अपने हाथ के दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने के उपाय

१. कुआँ या गहरे गड्ढे में हर अमावस्या को एक चम्मच दूध डालें.
२. भैस को चारा खिलाएं .
३. जौं को दूध से धोकर आजीवन अमावस्या को बहाएं.

परेशानिओ से छुटकारा पाने के उपाय
परेशानिओं से छुटकारा पाने के लिए बुधवार शाम को एक किलो जॊ को पांच किलो दूध में धो कर बहते जल में प्रवाहित करे

बुधवार शाम को शेर के गले में चुन्नी बांध कर उसके कान में अपनी मन्नत कह कर माँ दुर्गा के पास रख दे

शारीरिक कष्ट व रोग दूर करने के लिये
नींबू लेकर रोगी के सिर से 7 बार उल्टा घुमायें। (शनिवार) एक चाकू सिर से पैर तक धीरे-धीरे स्पर्श करते हुये नींबू को बीच से काट दें। दोनों टुकड़े दिशा की संध्या समय फैंक दें।
शनिवार को सवा किलो आलू व बैंगन की सब्जी सरसों के तेल में बनाएं। उतनी ही पूरियां सरसों के तेल में बनाकर अंधे, लंगड़े व गरीब लोगों को यह भोजन खिलायें। ( 3 शनिवार)
शत्रु पक्ष से परेशानी
1- यदि आपको शत्रु पक्ष से परेशानी हैं तो कर्पूर के काजल से शत्रु का नाम लिखकर अपने पैर से मिटा दें।
शनि दृष्टि दोष दूर करने के लिये
उड़द की दाल के 4 बड़े शनिवार को प्रात: सिर से 3 बार एंटी क्लाकवाइज (उलटा) घुमाकर कौओं को खिलाएं। (सात शनिवार करो)।

शनि कृपा पाने के लिये
शनिवार के दिन आठ नंबर का जूता (लैदर का) शनि का दान मांगने वाले को ‘ऊँ सूर्य पुत्राय नम:’ आठ बार कहकर दें।

शनि कृपा प्राप्त करन के लिए
27 किलो गुलाब जामुन पर एक लौंग फूल वाली चो भोकर शनिवार को जमुना नदी में प्रवाहित करें।

Contact :
yogi baba
Mob. No. – 09582534769

ध्यान रहे झाड़ू पर जाने-अनजाने पैर नहीं लगने चाहिए, इससे महालक्ष्मी का अपमान होता है।
– झाड़ू हमेशा साफ रखें।
– ज्यादा पुरानी झाड़ू को घर में न रखें।
– झाड़ू को कभी जलाना नहीं चाहिए।
– शनिवार को पुरानी झाड़ू बदल देना चाहिए।- शनिवार के दिन घर में विशेष साफ-सफाई करनी चाहिए।
– घर के मुख्य दरवाजा के पीछे एक छोटी झाड़ू टांगकर रखना चाहिए। इससे घर में लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।
शनि दृष्टि दोष दूर करने के लिये
उड़द की दाल के 4 बड़े शनिवार को प्रात: सिर से 3 बार एंटी क्लाकवाइज (उलटा) घुमाकर कौओं को खिलाएं। (सात शनिवार करो)।

शनि कृपा पाने के लिये
शनिवार के दिन आठ नंबर का जूता (लैदर का) शनि का दान मांगने वाले को ‘ऊँ सूर्य पुत्राय नम:’ आठ बार कहकर दें।

शनि कृपा प्राप्त करन के लिए
27 किलो गुलाब जामुन पर एक लौंग फूल वाली चो भोकर शनिवार को जमुना नदी में प्रवाहित करें।
कर्जे उतारने का मार्ग
एक सेर भुने चावल, एक पाव शक्कर तथा आधा पाव घी तीनों को एक साथ मिलाकर प्रात: निम्न मंत्र पढ़कर चींटी के बिल पर घर से बहार किसी पार्क के एकांत में डालें, तो बैंक का लोन यो किसी से कर्जा ले लिया हो तो कर्जे उतारने का मार्ग बन जाता है।
त्रैलोक्य पूजिते देवि कमले विष्णु वल्लभे।
यथा त्वमचला कृष्णे तथा भव मयि स्थिरा।।
कमला चंचला लक्ष्मीश्चला भूतिहरिप्रिया।
पद्मा पदमालया संपद रमा श्री पद्मधारिणी।।
द्वादशैतानि नामानि लक्ष्मी संपूज्यय: पठेत्।
स्थिरा लक्ष्मी भवेत तस्य पुत्रादिभि: सह।।
दुर्भाग्य
लगातार प्रयास करने के बाद भी सफलता आपसे कोसों दूर है तो सफलता तक पहुंचने के लिए आप ऊंट का सहारा ले सकते हैं। चीनी वास्तु विज्ञान फेंगशुई के अनुसार ऊंट नौकरी, व्यावसायिक एवं आर्थिक बाधाओं को दूर करने में सहायक होता है।

फेंगशुई के अनुसार ऊंट की मूर्ति को ऑफिस और घर दोनों ही जगहों पर रखा जा सकता है। इससे प्रगति की राह में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं। जिनकी नौकरी अथवा व्यवसाय में सबकुछ सामान्य चल रहा है उन्हें परेशानियों एवं विरोधियों के प्रभाव से बचने के लिए अपने ऑफिस में ऊंट रखना चाहिए।

घर में ऊंट की मूर्ति रखने से आर्थिक स्थिति सामान्य रहती है। धन संबंधी समस्याओं में कमी आती है। लेकिन अगर ऊंट को जोड़े में रखा जाए तो धन का आगमन भी तेज होता है और आर्थिक स्थिति उन्नत होती है। फेंगशुई के अनुसार ऊंट का सकारात्मक प्रभाव तभी प्राप्त होता है जब इसे उत्तर पश्चिम दिशा में रखा जाए।

फेंगशुई में ऊंट को लेकर ऐसी मान्यता इसलिए है क्योंकि ऊंट दृढता और संघर्ष का प्रतीक है। मरूभूमि में मनुष्य को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के अलाव यह छाया और दूसरी अन्य चीजों से मनुष्य की सहायता करता है। मरूभूमि की कठिन राहों में यह एक कुशल मार्गदर्शक का भी काम करता है। इसलिए फेंगशुई में माना जाता है कि ऊंट की मूर्ति और तस्वीर जीवन की कठिनाईयों को भी पार लगाने में सहायक होता है।

घर में पैसा बचायें इस तरह भी

आप पैसा बचाने के पक्ष में हैं और अधिक से अधिक धन कमाने के बाद भी कुछ बचा नहीं पा रहे हैं और घर में बरकत नही हो रही हो,पैसे कब आते हैं, कब चले जाते हैं कोई हिसाब-किताब नहीं तो इस उपाय को आजमायें-मंगलवार के दिन लाल चंदन,लाल गुलाब के फूल तथा रोली लें. इन सब चीजों को लाल कपड़े में बांधकर एक सप्ताह के लिए मंदिर में रख दें. घर पर धूपबत्ती किया करें. एक सप्ताह के बाद उनको घर की तथा दुकान की तिजोरियों में रख दें आप देखेंगे कि आपकी इच्छा साकार होने लगी है.
यदि आप मालामाल होना चाहते हैं तो काली मिर्च के 5 दानों का यह उपाय करें।

उपाय के अनुसार काली मिर्च के 5 दाने लें और उन्हें अपने सिर पर से 7 बार वार लें। इसके बाद किसी चौराहे पर खड़े होकर या किसी सुनसान स्थान पर चारों दिशाओं में 4 दाने फेंक दें। इसके बाद 5वें दाने को ऊपर आसमान की ओर फेंक दें।
यह एक टोटका है और इसके लिए ऐसा माना जाता है कि जो भी व्यक्ति यह उपाय करता है उसके लिए अचानक धन प्राप्ति के योग बनते हैं।
ऐसे उपाय केवल श्रद्धा और विश्वास पर काम करते हैं। यदि मन में शंका या संशय होगा तो यह उपाय निष्फल हो जाता है। इसके साथ ही ऐसे उपायों को किसी के सामने जाहिर भी नहीं करना चाहिए।
इस उपाय से कई लाभ हैं। जैसे यदि किसी बुरी नजर के कारण आपकी आर्थिक स्थिति प्रभावित हो रही है तो वह दोष भी दूर हो जाएगा। इस उपाय से बुरी नजर भी उतर जाती है। इसके साथ ही यदि किसी नकारात्मक शक्ति के कारण परेशानियां आ रही हैं तो उन शक्तियों का प्रभाव भी खत्म हो जाएगा
लक्ष्मी का आगमन

शनिवार को अपने पलंग के नीचे एक बर्तन में सरसों का तेल रखें। अगले दिन उस तेल में उडद की दाल के गुलगुले बनाकर कुत्तों और गरीबों को खिलाने से गरीबी दूर होती है और लक्ष्मी का आगमन होता है।
ये उपाय श्रद्धापूवक करने पर आपको कुछ ही समय में इसके अच्छे परिणाम मिलने लग जाएंगे।

Contact :
yogi baba
Mob. No. – 09582534769
Email – matausha@gmail.com

 

OM GURUDEVAY NAMAH

        OM GURUDEVAY NAMAH

YOGI BABA Ji
Address : Yogi baba Vashikaran Dham, Mukti Dham Ashram, Shamsan Ghat, Har ki Pauri, Haridwar, Uttrakhand.
Contact # +91-9582534769

Contact Us!
Your message was successfully sent!



6 + 2 =