×

सेक्स से सम्बंधित 10 कॉमन सवाल और उनके जवाब

 

1. मैंने हमेशा सुरक्षित सेक्स किया है फिर भी मुझे यौनसंचारित रोग लग गया है! यह कैसे संभव है?

सुरक्षित संभोग करने का आशय, प्रायः सेक्स के दौरान कंडोम पहनने से और यह सुनिश्चित करने से है कि आपके मुंह में वीर्य या मासिक धर्म का खून न चला जाए। तब आप एड्स फैलाने वाले एचआईवी विषाणु तथा क्लेमाइडिया और गोनोरिया जैसे संक्रमणों से सुरक्षित रहते हैं।
फिर भी यौनसंचारित रोगों के विषाणु और जीवाणु दूसरे तरीकों से भी आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर एक-दूसरे का हस्तमैथुन करने से अथवा सेक्स किए बिना केवल जननांगों को छूने से। यहां तक कि जब आप हमेशा कंडोम को प्रयोग करते हैं तो भी यौनसंचारित रोग लगने की कुछ न कुछ संभावना बनी ही रहती है।

2. ‘डेन्टल डैम’ क्या है और मुझे यह कहां मिल सकता है?

‘डेन्टल डैम’, रबर का बना एक वर्गाकार टुकड़ा होता है जिसका उपयोग लड़की के साथ मुख मैथुन करते समय उनकी योनि के ऊपर रखने के लिए कर सकते हैं। उन्हें ‘डेन्टल डैम’ इसलिए कहा जाता है क्योंकि उनको दांतों के इलाज़ के लिए बनाया गया था, सेक्स के लिए नहीं!
आप, इंटरनेट के माध्यम से वास्तविक ‘डेन्टल डैम’ खरीद सकते हैं। हालांकि किसी कंडोम का आयताकार टुकड़ा काटकर इसे आसानी से बनाया जा सकता है। इससे भी सस्ता उपाय है किसी प्लास्टिक क्लिंग फिल्म (चपटे टुकड़े या चपटी पर्त) का प्रयोग करना। यह सुनिश्चित कर लें कि इनमें छोटे-छोटे छिद्र न हों।
विशेषकर जब लड़की का मासिक धर्म हो रहा हो, तो आप अपने मुंह में खून के प्रवेश से बचने के लिए डेन्टल डैम’ का प्रयोग कर सकते हैं। आप गुदा में मुख मैथुन करते समय भी इसका प्रयोग कर सकते हैं।

3. मैंने किसी लड़की के साथ असुरक्षित संभोग किया था, लेकिन उसके बाद पेशाब कर अपने लिंग को अच्छी तरह धो लिया था। क्या इससे मुझे रोग से बचने में सहायता मिलेगी?

जी नहीं, पेशाब करने या अपने जननांगों को धो लेने से असुरक्षित संभोग करने के कारण रोग के लगने का जोखिम कम नहीं हो जाता है। यदि लड़की को कोई यौनसंचारित रोग है, तो हो सकता है वह आपको लग गया हो। आप, डॉक्टर के पास या चिकित्सालय जाएं और जांच कराएं। और अगली बार से कंडोम का प्रयोग करें।

4. मेरे बॉयफ्रेंड गर्भनिरोध के लिए ‘लिंग को योनि से बाहर निकाल कर वीर्यपात करने’ की विधि अपनाना चाहते हैं। क्या यह सुरक्षित संभोग है?

जी नहीं, यह सुरक्षित नहीं है। हालांकि योनि में शुक्राणु तो प्रवेश नहीं करते, किंतु वीर्यपात से पहले निकलने वाले तरल पदार्थ (प्री-कम) प्रवेश करते हैं। इससे आपको यौनसंचारित रोग होने या संचारित करने अथवा गर्भवती होने का जोखिम बना रहता है।

•यौनसंचारित रोग

वीर्यपात से पहले निकलने वाले तरल पदार्थ (लड़के के लिंग से निकलने वाले पारदर्शी तरल पदार्थ) (प्री-कम)) में एचआईवी (वह विशाणु जिससे एड्स होता है) तथा दूसरे यौनसंचारित रोग, जैसे कि क्लाइमेडिया, गोनोरिया, जेनिटल हर्पीज, जेनिटल वाटर्स, सिफलिस या ट्राइकोमोनियासिस हो सकते हैं। यदि आप गर्भनिरोधक गोली खाती हैं, तो यह आपको गर्भवती होने से तो बचाएगी, किंतु किसी यौनसंचारित रोग के होने से नहीं।

•गर्भधारण

गर्भनिरोध के लिए ‘लिंग को योनि से बाहर निकाल कर वीर्यपात करने’ की विधि, (जिसे कोइटस इन्टरप्टस) भी कहते हैं, गर्भनिरोध का बहुत असरदार तरीका नहीं है। वीर्यपात से पहले निकलने वाले तरल पदार्थ में भी कोई शुक्राणु कोशिका मौज़ूद हो सकती है। इससे भी अधिक ज़रूरी बात यह है कि इसमें लड़के को समय का अनुमान लगाने में गलती हो सकती है, और हो सकता है लिंग को बाहर निकालने में देर हो जाए।

5. क्या पहली बार संभोग करते समय दर्द हेाता है?

ऐसा होना ज़रूरी नहीं है। यदि लड़की तनावमुक्त और उत्तेजित है तो इसमें दर्द नहीं होता। यदि आप बहुत तनाव में हैं तो योनि सूखी और तनावयुक्त रह सकती है। इससे इस बात की अधिक संभावना होती है कि झिल्ली टूट जाएगी और संभोग कष्टदायक हो जाएगा। पहली बार आप अक्सर घबराए हुए होते हैं, इसलिए ऐसा आसानी से हो सकता है। लेकिन यदि आप दोनों कोई जल्दबाज़ी नहीं करते, तो इसमें दर्द नहीं हेाता है।

6. कौमार्य (कुवांरापन) किसे कहते है?

कोई लड़की या लड़का कुंवारा तब कहा जाता है जब उन्होंने कभी भी संभोग (योनि में लिंग का प्रवेश कराकर किया जाने वाला सेक्स) न किया हो। इसीलिए जब आप पहली बार योनि-संभोग करते हैं तो लोग कहते हैं कि ‘आपने अपना कौमार्य खो दिया है’। यह सुनिश्चित कर लें कि आपके साथी को इस बात का पता है कि आप पहली बार संभोग करने जा रहे हैं, जिससे आप कोई जल्दबाज़ी न करें और धीरे-धीरे तथा सौम्यता से आगे बढ़ें।
इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप कौमार्य झिल्ली और कौमार्य भाग पढ़ सकते हैं।

7. मैं बहुत जल्दी क्यों स्खलित हो जाता हूँ?

सेक्स बहुत रोमांचक होता है, और वह भी पहली बार! कई लड़के न चाहते हुए भी जल्दी चरम आनंद (आर्गैज़्म) महसूस कर लेते हैं। इस बारे में चिंता न करें। जब आपको अधिक अनुभव हो जाएगा और आप अधिक तनावमुक्त रहेंगे तो आप स्खलन रोकना सीख जाते हैं। यदि आपको शर्मिंदगी महसूस होती है, तो इसे हल्के में लें। ऐसा कुछ कहें, जैसे कि, ‘आपने मुझे वास्तव में आनंद दे दिया!’ यदि आप ऐसी बातें कर हँस लेते हैं, तो ऐसा होना आपके लिए कोई समस्या नहीं बनेगी।

8. मुझे चरम आनंद (आर्गैज़्म) क्यों नहीं महसूस होता?

लड़कियों को अक्सर संभोग के दौरान चरम आनंद महसूस नहीं होता। योनि में केवल लिंग के अंदर-बाहर करने से टिठनी उत्तेजित नहीं होती। यदि आपको चरम आनंद महसूस करने की इच्छा है तो अपनी टिठनी को स्वयं छूएं, या अपने साथी को ऐसा करने को कहें। केवल संभोग करने के समय ही आपको चरम आनंद महसूस करने का समय नहीं होता। आपके साथी संभोग के पहले या बाद में भी आपके टिठनी को उत्तेजित कर आपको चरम आनंद महसूस करा सकते हैं।

9. क्या पहली बार में ही कोई लड़की गर्भवती हो सकती है?

जी हाँ, पहली बार में ही किसी लड़के के साथ संभेाग करने से लड़की गर्भवती हो सकती हैं। चाहे उनका पहले कभी मासिक धर्म हुआ हो अथवा नहीं। इसलिए हमेशा कंडोम का प्रयोग करें।

10. आप पहली बार को एक सुखद अनुभव कैसे बना सकते हैं?

पहली बार संभोग करने की दस युक्तियां देखें। यदि आप अपने षरीर के बारे में जानते हैं तो अच्छा होता है। क्या आपने कभी हस्तमैथुन किया है? यदि आपने किया है तो आपको पता होगा कि आप किस प्रकार छुआ जाना पसंद करते हैं और आप कैसे यौन उत्तेजना महसूस करते हैं। अपने साथी को इस बारे में बताएं और साथ मिलकर पता करें कि आपको और किन बातों से यौन उत्तेजना महसूस होती है।

 

 

OM GURUDEVAY NAMAH

        OM GURUDEVAY NAMAH

YOGI BABA Ji
Address : Yogi baba Vashikaran Dham, Mukti Dham Ashram, Shamsan Ghat, Har ki Pauri, Haridwar, Uttrakhand.
Contact # +91-9582534769

Contact Us!
Your message was successfully sent!



2 + 8 =